एसडीएम की पिटाई से तहसील कर्मी की मौत

0
909

एसडीएम इतना बेकाबू हो गया कि उसने पीटते पीटते तहसील कर्मी को जान से ही मार दिया। अब एसडीएम के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया है पुलिस उसकी तलाश कर रही है।
यहंा बता दे कि मामला प्रतापगढ जिले के लालगंज तहसील का मामला है यहां तैनात एसडीएम ज्ञानेंद्र विक्रम ने तहसील में उपनाजिर पद पर कार्यरत सुनील शर्मा को इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई इसके बाद तहसील कर्मी के बेटे की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है।
लालगंज तहसील का उपनाजिर सुनील शर्मा शराब पीने का आदी था। उससे एसडीएम ज्ञानेंद्र विक्रम बहुत नाराज रहता था। सूत्र बताते हैं इसी मामले में गुरूवार को एसडीएम लाठी व डंडे लेकर सुनील के घर पहुंच गया और वहां उसने कर्मचारी सुनील के साथ मारपीट शुरू कर दी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। शुक्रवार को घायल सुनील ने अपना मेडीकल कराने की मांग की थी। लेकिन पुलिस मेडीकल कराने को सहमत नहीं हुई इसके बाद हालत ब्रिगडने पर घायल सुनील को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए चिकित्सकांे ने सुनील शर्मा को मेडीकल कालेज के लिए रेफर कर दिया इसके बाद सुनील को मेडीकल कालेज में भर्ती कराया गया। जहां शनिवार को उसकी मौत हो गई। मौत के बावजूद भी मेडीकल कालेज के डाक्टरों के द्वारा सुनील को मृत घोषित ना करने की वजह से तहसील कर्मियों ने धरना दिया व हंगामा शुरू किया उसके बाद ही सुनील को मृत घोषित किया।
इसके बाद कर्मचारी व परिजन एसडीएम के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने पर अड गए। लगभग चार घंटे तक हंगामा करने के बावजूद बडी मशक्कत के बाद इसके सुनील शर्मा के पुत्र सुधीर शर्मा की तहरीर पर एसडीएम व तीन अन्य के खिलाफ मारपीट व हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। अब एसडीएम की गिरफ्तारी के लिए तहसील कर्मचारी व सुनील शर्मा के परिजन दबाव बना रहे हैं। इधर जिलाधिकारी डा नितिन बंसल ने एसडीएम ज्ञानेंद्र विक्रम सिंह को हटा दिया है इसके साथ ही मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के भी आदेश दिए गए हैं।

(Visited 549 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here