सपाईयों ने ले ली डीएम की गाडी की तलाशी

0
471

अक्सर पुलिस द्वारा लोगों के वाहनों को चेकिंग करते हुए सुना या देखा गया होगा। लेकिन इस समय सपाई ईवीएम की गडबडी आषंका के चलते बडे से बडे अधिकारी को भी नहीं बख्ष रहे हैं। यहां हम बात कर रहे हैं कौषांबी जिले के जिलाधिकारी सुजीत कुमार की। सपाईयों ने उनकी गाडी रोक ली। इसके बाद सपाई यहीं नहीं रूके बल्कि पूरी गाडी की तलाषी भी ली तलाषी के बाद जब गाडी में कुछ नहीं मिला तब संतुश्टि के बाद जिलाधिकारी की गाडी को जाने दिया।
हुआ यूं कि बुद्धवार को कौषाम्बी के जिलाधिकारी सुजीत कुमार ओसा स्थित मतगणना स्थल पर जा रहे थे तभी मतगणना स्थल से कुछ दूरी पर सपाईयों ने जिलाधिकारी की गाडी रोक ली। जिलाधिकारी द्वारा कारण पूंछा तब सपाइयों ने उन पर ईवीएम लेजाने का आरोप लगाया। जिलाधिकारी ने अचम्भे से सपाईयों की ओर देखा तब सपाई मानने को राजी नहीं हुए। इसके बाद सपाईयों ने जिलाधिकारी की गाडी की मौके पर ही तलाषी ली। जब सपाई पूर्ण रूप से संतुश्ट हो गए तब गाडी मतगणना स्थल की ओर जाने दी।

डीएम की गाड़ी घेरे सपा समर्थक

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश के बाद पूरे प्रदेष में समाजवादी पार्टी के प्रत्याषी, पदाधिकारी व कार्यकर्ता मतगणना स्थलों पर पहुंच गए हैं, और वहां ईवीएम की रखवाली कर रहे हैं। कौषाम्बी जिलाधिकारी की गाडी की चेकिंग का वीडियो वायरल होने से अधिकांष लोग आश्चर्य चकित हो गए हैं। लोगों का कहना है कि किसी का तो विष्वास करो लेकिन सपाई किसी पर भी विष्वास नहीं कर रहे हैं।
इधर बांदा जिले के जिलाधिकारी अनुराग पटेल की गाडी मतगणना स्थल पर जा रही थी। तभी सपा समर्थकों ने गाडी रोक ली। यहा तिंदवारी विधानसभा से सपा प्रत्याषी बृजेष कुमार प्रजापति ने और उनके समर्थकों ने जिलाधिकारी की गाडी रोक ली। इसके साथ ही जिलाधिकारी से पटेल से कहा कि हमें आपकी गाडी चेक करनी है। जब डीएम ने कडक अंदाज में कहा कि आपको हमारी गाडी चेक करने का कोई अधिकार नहीं है, आप डीएम से बदतमीजी कर रहे हैं तब सपाईयों व डीएम में लगभग दस से पन्द्रह मिनट बहस होने के बाद जिलाधिकारी बांदा की गाडी मतगणना स्थल पर पहुंची। इसके बाद सपाईयों ने एएसपी की गाडी रोक ली और उसे भी मतगणना स्थल पर नहीं जाने दिया। जबकि हमीर पुर के एसडीएम सदर की गाडी भी रोकने का प्रयास किया। यह घटनाऐं प्रदेष में अन्य भी कई जगह हुईं हैं।

(Visited 200 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here