स्वामी प्रसाद मौर्य बौखलाए सपा कार्यकर्ता को मंच से धक्का देकर उतारा

0
640
Swami Prasad Maurya -------Photo Social Media

स्वामी प्रसाद मौर्य(Swami Prasad Maurya) का पारा इन दिनो चढा हुआ चल रहा हैं। इसलिए कभी उनकी भाषा विपक्षी नेताओं पर बिगड रही है तो कभी वह अपनी पार्टी के नेताओं पर ही बौखला जा रहे हैं। ऐसा ही एक वाकया पडरौना विधानसभा में कार्यक्रम के दौरान सामने आया। जब मौर्य पडरौना में एक जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। इसी समय एक सपा कार्यकर्ता मंच पर ही कुछ बोल रहा था। इसी समय स्वामी प्रसाद इतने अधिक गुस्से में आ गए कि उन्हांेने उस कार्यकर्ता उसी समय बहुत भला बुरा कहा और साथ ही गुस्से से उसे मंच से धक्का देकर उतार दिया जिसकी पूरे इलाके में जोरों से चर्चा हो रही है।

Swami Prasad Maurya ——-Photo Social Media

भाषण को बीच में छोड़ सपा कार्यकर्ता पर किया गुस्सा
हुआ यूं कि चुनाव प्रचार के लिए स्वामी प्रसाद मौर्य पडरौना विधान सभा के मांसाछापार इलाके मंे एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। इस समय वह बीजेपी पर लगातार हमला बोल रहे थे। वह कार्यक्रम में आए लोगों को बता रहे थे कि भाजपा सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास का नारा तो दे रही है लेकिन उसका मकसद कुछ और ही है। इसी समय समाजवादी पार्टी का एक कार्यकर्ता जो मंच पर मौजूद था। किसी बात को लेकर किसी अन्य कार्यकर्ता से कुछ कह रहा था। उसकी आवाज सुनकर स्वामी प्रसाद मौर्य बुरी तरह से नाराज हो गए। इसके तुरंत बाद मौर्य ने अपना भाषण रोक दिया एवं कार्यकर्ता को मंच पर ही खूब खरी खोटी सुनाने के साथ ही कार्यकर्ता को मंच से स्वयं ही अपने हाथों से धक्का दे दिया। इसकी वहंा मौजूद लोगों में बडी चर्चा शुरू हो गई। वहीं मौर्य ने दोबारा अपना भाषण देकर कार्यक्रम पूर्ण किया। लेकिन मौजूद कार्यक्रम की चर्चा लोगों में तेज हो गई।
मोदी योगी को चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए।
अभी दो दिन पहले ही स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक जनसभा मे ंबोखलाते हुए मोदी योगी पर आपत्तिजनक बयान दिया था। जिसकी चारों ओर आलोचना हो रही है। लोग स्वामी प्रसाद मौर्य की इन हरकतों के कारण उनकी आलोचना हो रही है। अधिकांश का कहना है कि चुनाव तो आते जाते रहते हैं लेकिन मर्यादा सदैव बनी रहनी चाहिए।
भाजपा से सपा में शामिल होने पर परंपरागत सीट छोडी
यहंा बता दें कि भाजपा छोड सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपनी पंरपरागत सीट पडरौना छोड दी है। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि भाजपा ने आरपीएन सिंह को कांगे्रस से पार्टी में जैसे ही शामिल कराया स्वामी प्रसाद मौर्य को अपनी जीत पर संकट दिखाई देने लगा। इसी कारण से सपा से स्वामी प्रसाद मौर्य ने पडरौना के अलावा किसी अन्य सीट से चुनाव लडने की मांग की। और समाजवादी पार्टी ने स्वामी प्रसाद मौर्य को कुशीनगर जिले की फाजिलनगर विधानसभा से चुनाव का टिकिट दिया है।

(Visited 294 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here