सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसौली : दो नर्सों पर रिश्वत ना देने पर डिलीवरी के समय बच्चे की गर्दन मरोड कर जान लेने का आरोप

0
254
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसौली

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात दो नर्सों पर गर्भवती महिला के परिजनों ने बच्चे की डिलीवरी के समय बच्चे की गर्दन मरोडने का आरोप लगाया है। जबकि नर्सों ने आरोप से इंकार किया है।
मामला यूपी के जिला बदायूं के सीएचसी बिसौली का है। शुक्रवार को समीपवर्ती गांव हत्सा से डिलीवरी कराने को एक महिला सोमवती अपनी पुत्र वधू को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसौली आई। साथ में परिजन भी थे। अस्पताल पर तैनात दो नर्सों ने गर्भवती महिला के परिजनों से डिलीवरी कराने के वास्ते 2000 रू की मांग की। परिजनों ने गरीबी का हवाला देते हुए 400 रू दे दिए शेष रू देने के लिए कुछ समय की मांग की। परिवार वाले रू का इंतजाम करने गांव गए तभी डिलीवरी शुरू हो गई। आरोप है कि रिश्वत की रकम ना मिलने के कारण नर्सों ने डिलीवरी के समय बच्चे की गर्दन मरोड दी। इसी समय बच्चे की मौत हो गई।

READ MORE ==थाना इस्लामनगर: पराठे के रूपए मांगने पर सिपाही ने ठेले वाले का पीटा, वीडियो वायरल

परिजनों का कहना है कि बच्चा बिल्कुल नीला पड गया। बच्चे के नाम व मुहुं से खून आने लगा। परिवार वालों का यह भी आरोप है कि नर्सों ने जच्चा से भी अभद्रता की है। यहां बता दें कि पहले भी सीएचसी बिसौली पर डिलीवरी के समय रिश्वत मांगने के आरोप लगते रहे हैं। कई बार तो डिलीवरी की रकम तय नहीं हो पाने के कारण बच्चे का जन्म एम्बुलेंस में भी हो चुका है। हाल ही में एक गर्भवती जब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसौली आई तब उसे बताया गया कि बच्चा टेढा है इसकी डिलीवरी बहुत कठिन है। इस गर्भवती को बदायूं के लिए रेफर कर दिया लेकिन बिसौली से तीन या चार किलोमीटर ही ऐम्बुलेंसे चली थी कि एम्बुलेंस में ही बच्चे का जन्म हो गया। जच्चा व बच्चा दोनों स्वस्थ रहे। यदि उच्चाधिकारियों द्वारा मामले की गंभीरता से जांच नहीं कराई गई तब कितने ही मासूमों की जान जा सकती है?

READ MORE ==थाना बजीरगंज पुलिस पर हमला, थानाध्यक्ष व चौकी इंचार्ज घायल

https://link.public.app/VVxuz

(Visited 397 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here