बलात्कार से पैदा हुए बेटे ने मां के साथ मिलकर 28 साल बाद दर्ज कराया बलात्कार का मुकदमा, एक गिरफ्तार

0
242

बिल्कुल एक फिल्मी कहानी की तरह बलात्कार से पैदा हुए बेटे ने मां को न्याय दिलाने के लिए मां के साथ मिलकर बलात्कारियों पर 28 साल बाद मुकदमा दर्ज कराया है। दो बलात्कारियों में से एक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मुकदमे में बलात्कार पीडिता ही वादनी है।
यहां बता दें कि इस मामले की कहानी 28 साल पहले यूपी के जनपद शाहजहां पुर के थाना सदर बाजार के एक घर में लिखी गई थी। पीडिता की आयु उस समय 12 साल थी। पीडिता के अनुसार वह उस समय अपने बहन बहनोई के घर पर रह कर पढाई कर रही थी। उस समय मोहल्ले के ही रहने वाले दो लडके उस पर बुरी नजर रखते थे। एक दिन जब पीडिता के बहन व बहनोई घर से अपनी जाॅब पर गए थे उसी समय दोनों लडके नकी हसन व जकी हसन दीवार कूदकर घर में घुस आए व पीडिता के साथ जबरन बलात्कार कर दिया।

READ MORE ===मास्साब ने तीस हजार में बेच दी स्कूल की सरकारी बिल्डिंग

इसके बाद दोनों ने पीडिता को धमकी दी कि अगर किसी को कोई बात बताई या फिर किसी से कहा तो तेरे बहन व बहनोई को जान से मार दिया जाएगा। इसके बाद जब भी पीडिता के बहन बहनोई घर से बाहर जाते थे तभी वह दोनों कूदकर घर में घुस आते थे। और पीडिता के साथ बलात्कार करते थे। एक दिन अचानक ही पीडिता की तबियत खराब हुई तब बहन बहनोई उसे लेकर एक डाक्टर के पास गए तब डाक्टर ने बताया कि पीडिता गर्भवती है। इतना सुनते ही बहन बहनोई के पांव तले की जमीन ही खिसक गई। जब दोनों ने पीडिता से पूरी पूंछी तब पीडिता ने परी कहानी सुना दी।

READ MORE ===अंजना ओम कश्यप अचानक कहां गायब हो गईं?

तब इसी शिकायत करने पीडिता के बहन बहनोई दोनों बलात्कारियों के घर गए तब दोनों बलात्कारियों ने पीडिता के बहन बहनोई के साथ बुरी तरह से मारपीट की। पीडिता के बहन बहनोई जब परेशान हो गए तब उन्होंने शाहजहांपुर से अपना ट्रांसफर रामपुर को करा लिया। इसके साथ ही पीडिता के गर्भ गिराने की बात कही। लेकिन डाक्टरों ने गर्भ गिराने से मना कर दिया। इसके बाद बच्चे को जन्म दिया गया। जब बिन ब्याही मां के बच्चे का जन्म हुआ तब उस बच्चे को एक रिश्तेदार को दे दिया गया। समय आने पर पीडिता का विवाह हो गया। उसकी हंसती खेलती जिंदगी चल रही थी अचानक ही उसके पति को बलात्कार व बच्चे के जन्म की कहानी पता लग गई।

READ MORE ===मेरा भाई प्रधानमंत्री है तो मैं क्या भूखा मर जाऊं: प्रहलाद मोदी

तब पति ने पीडिता को घर से निकाल दिया। इधर जिस जगह पर पीडिता का बच्चा पल रहा था वहां लोग उस बेटे को भी ताने देते थे। एक दिन जिद करने पर बच्चे को पता लगा कि यह उसके असली मां बाप नहीं है। खोज करने पर पता लगा कि उसकी मां लखनऊ रहती है। वह लडका अपने जुनून में मां से मिलने लखनऊ पहुंच गया। इसके 28 साल बाद जब वह बेटा अपनी असली मां से मिला तब मां ने बेटे को उसके जन्म की असलियत बता दी। इसके  बाद बेटे ने मां को आश्वासन दिया कि मैं मां के बलात्कारियों को सजा दिलाऊंगा। फिर दोनों मां बेटा बलात्कार की रिपोर्ट लिखाने शाहजहांपुर के थाना सदर बाजार पहुंच गए लेकिन पुलिस ने बलात्कार की इतनी पुरानी रिपोर्ट दर्ज नहीं की। तब दोनों मां बेटे रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए न्यायालय पहुंचे जहां मां के प्रार्थना पत्र पर न्यायालय ने धारा 156(3) सीआरपीसी के अंतर्गत न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया। इसके बाद 28 साल बाद न्यायालय के आदेश पर थाना सदर बाजार में मुकदमा दर्ज कर लिया।

READ MORE ===लव जिहाद : पंडित बनकर आटो चालक ने फंसाई छात्रा, बाद में निकला चांद, गिरफ्तार

इसके बाद मामले की विवेचना शुरू हो गई। मामले में दोनों बलात्कारियों के साथ मां व बेटे का भी पुलिस ने डीएनए टेस्ट कराया। डीएनए टेस्ट में एक बलात्कारी से बेटे का डीएनए मिल गया। डीएनए का सेंपल देने के बाद दोनों बलात्कारी भाई हैदराबाद भाग गए। पुलिस ने एक बलात्कारी जकी हसन को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। पुलिस का कहना है कि दूसरा आरोपी भी शीघ्र ही गिरफ्तार होगा।

READ MORE ===बेरहम दरोगा ने महिला को दी थर्ड डिग्री, प्राईवेट पार्ट में चोट

(Visited 616 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here