मेरी पत्नी सुन्दर, मैं करता काण्ड इसे कहते हैं सुन्दरकाण्ड: सपा विधायक

0
782
Kanpur MLA

Kanpur Aaryanagar Vidhan Sabhaचुनाव में नेता अक्सर बेशर्मी की सारी हदें पर कर जाते हैं। ऐसा ही एक कारनामा कानपुर जिले की आर्यनगर विधान सभा के विधायक अमिताभ वाजपेई(Amitabh Vajpayee SP MLA) ने। वाजपेई ने यहां सारी सामाजिक व धार्मिक मर्यादाऐं लांघते हुए रामचरित मानस के संुदरकांड की अलग व्याख्या कर दी। जो चर्चा का विषय बनी हुई हैं वाजपेई ने यह बात अपने एक रोड शो के दौरान अपने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कही।
आगामी 20 फरबरी को कानपुर में मतदान होना है इसी सिलसिले में आर्यनगर विधान सभा से सपा विधायक व वर्तमान में समाजवादी पार्टी प्रत्याशी अमिताभ वाजपेई(Amitabh Vajpayee SP MLA) ने एक बेतुका बयान दिया है। जिसे लोग शर्मनाक कह रहे है। इस रोड शो दौरान अमिताभ वाजपेई ने मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के कपडों पर टिप्पणी करते करते सुन्दरकाण्ड पर पहुंच गए। उन्होंने कहा कि आज मेरी वैवाहिक वर्ष गांठ की सिल्वर जुबली है। मैंने इस मौके पर सुंदर कांड कराया तो मेरे दोस्त बोले लगे कि सुंदर कांड क्यों करवाया, कहीं घूमने-फिरने जाते। विधायक ने कहा कि मैंने मित्रों ने कहा कि मेरी पत्नी सुंदर है और मैं कांड करता रहता हूं, इसलिए मैंने सुंदर कांड करवाया है।
सपा विधायक ने बेशर्मी से सुंदर काण्ड की जो नई परिभाषा गढी सह लोगों को बेहद ही शर्मनाक लगी। लेकिन उन्होंने इसका विस्तार से विवरण सुनाया कि 25वीं वैवाहिक सालगिरह पर सुंदर-काण्ड इसलिए करवाया क्योंकि मेरी बीवी सुंदर है और मैं तो कांड करता ही रहता हूं। वह इतने पर ही नहीं रुके और सामने खड़े लोगों से कहा कि आप की पत्नी भी तो काफी सुंदर हैं। उन्होंने कहा कि आप सब लोगों ने तो मेरी पत्नी को देखा ही है, वह काफी सुंदर है। आजकल तो घर-घर जा रही है। जिसने नहीं देखा है तो देख लेना, लेकिन कुछ ऐसा-वैसा मत कर देना, नहीं तो मैं कांड कर दूंगा। सपा नेता की यह भाषा लोगों को बेहद ही शर्मनाक लगी है।
सपा नेता द्वारा ऐसा कहना समाजिक व धार्मिक भावनाओं के ठेस पहुंचाने का एक कुत्सित प्रयास है। इससे हिन्दूधर्म के मानने वालों की भावनाओं को ठेस पहुंची है।
सफाई
जब वाजपेई के बयान पर बवाल हुआ व लोगांे ने उन्हें ट्रोल किया व इसे धार्मिक भावनाओं पर चोट बताया तब उन्होंने इसका स्पष्टीकरण भी दिया। सपा विधायक अमिताभ वाजपेई ने कहा कि इसमें मैंने किसी धर्मग्रथ का कोई अपमान नहीं किया हैं। 14 फरबरी को मेरी शादी की 25 वीं वर्षगांठ थी। इसलिए अपनी पत्नी से मजाक किया है। मैं बीस विस्वा का ब्राहमण हूं। मुझे मेरी पत्नी से मजाक करने पर भी बीजेपी प्रतिबंध लगाएगी इसका बीजेपी को कोई अधिकार नहीं है। यह बीजेपी ने कोई धर्म का ठेका ले रखा है।

(Visited 255 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here