बिसौली : एसडीएम के आश्वासन पर एडवोकेट प्रदीप उपाध्याय का अनशन एक सप्ताह टला

0
259
Bisauli

धुमंतू गायों के चारे की व्यवस्था ना हो पाने व ग्राम सभा की भूमि पर अवैध कब्जा को लेकर घोषित अनशन एसडीएम बिसौली के आश्वासन पर एक सप्ताह के लिए टाल दिया गया। अगर मांगें पूर्ण नहीं हुईं तब एक सप्ताह बाद अनशन किया जाएगा।
यहां बता दें कि प्रदीप उपाध्याय एडवोकेट गांव राजा की सीकरी के निवासी हैं। इस गांव में घुमतू गायें हैं। इन गायों को कोई व्यवस्था नहीं है। इस समस्या को लेकर उपाध्याय ने एक अनशन किया था जिस अनशन के बाद गांव में गौशाला बनाई गई। अब गायों के चारे की व्यवस्था को लेकर प्रदीप उपाध्याय परेशान हैं। उनका कहना है कि गांव में 205 वीघा जमीन चरागाह की है। इस जमीन पर आधा दर्जन दबंगों का कब्जा है। उपाध्याय का कहना है कि इस जमीन पर चारा बोकर गायों को खिलाया जा सकता है। इस बात को लेकर प्रदीप उपाध्ययाय ने दर्जन भर से अधिक शिकायतें कीं लेकिन प्रशासन ने अभी तक गांव सभा की चरागाह की भूमि को कब्जा मुक्त नहीं कराया है।

Read More ——–बदायूं: ग्रामीणों ने सिपाहियों पर किया हमला रायफल छीनीं

इससे परेशान होकर प्रदीप उपाध्याय ने अनशन करने का निर्णय लिया। लेकिन सोमवार को जब प्रदीप उपाध्याय ने अनशन के लिए बिसौली तहसील परिसर स्थित मंदिर पर बैनर आदि लगाना शुरू किया तभी एसडीएम ज्योति शर्मा ने अपने कार्यालय के एक कर्मचारी से उपाध्याय को अपने कार्यालय बुलवाया व इसके बाद दोनों में काफी बहस हुई। इसके बाद एसडीएम ज्योति शर्मा ने प्रदीप उपाध्याय को आश्वासन दिया कि एक सप्ताह के अंदर उनकी सभी समस्याओं का निराकरण कर दिया जाएगा। इसलिए वह अपने अनशन नही करें। तब प्रदीप उपाध्याय ने प्रशासन को एक सप्ताह का समय देते हुए कहा कि अगर एक सप्ताह में समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तब वह एक सप्ताह बाद अनशन पर बैठ जाऐंगे। फिलहाल अनशन टलने से प्रशासन ने राहत की सांस ली है। इस बारे में एसडीएम बिसौली से बात करने का प्रयास किया गया तब कई बार काल करने के बाद भी फोन नहीं उठा इसलिए उनका पक्ष नहीं पता चल सका है।

Read More ——–प्रेमिका के घर में घुसे प्रेमी को पीट पीट कर, जहर खिलाकर मार डाला

(Visited 219 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here