थाना प्रभारी बजीरगंज पर हमला करने के मामले में 17 नामजद व 100 अज्ञात के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज

0
208

युवक सुखवीर की हत्या के बाद थाना प्रभारी बजीरगंज पर हुए हमले व बलवा के मामले में 17 लोगों को नामजद करते हुए 100 लोगों पर थाना प्रभारी पर हमला करने सरकारी कार्य में बाधा करने, बलवा करने व 7 किमिनल ला एमेन्डमेंट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।
यहां बता दें कि यूपी के जिला बदायूं के थाना बजीरगंज के गांव पेंपल में युवक सुखवीर की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। सुखवीर की लाश शनिवार को गांव पेंपल के ही एक बाग में मिली थी। जबकि युवक बीती 24 जुलाई की रात को गायब हो गया। इसके बाद परिवार वालों ने 25 जुलाई को तहरीर दी।

READ MORE ==दरोगा ने सिपाही को दिया तीन तलाक, रिपोर्ट दर्ज

तब पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के बजाए गुमशुदगी दर्ज की। इसके बाद थाना बजीरगंज पुलिस ने 28 जुलाई को चार लोगों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने अगले दिन सभी आरोपियों को छोड दिया। जब अपहर्ता के परिवार वालों ने पुलिस से आरोपियों को छोडने की शिकायत की तब पुलिस ने कहा कि सुखवीर के मोबाइल की लोकेशन दिल्ली की दिखाई जा रही है। पुलिस सुखवीर के घरवालों की बात का ध्यान नहीं दे रही थी। सुखवीर के मोबाइल की लोकेशन दिल्ली की बता रही थी। शनिवार को पेंपल के एक बाग मेें जब सुखवीर की लाश मिली तब परिवार वाले व गांव के लोग बौखला गए।

READ MORE ==अपहरण कर जान लेने के मामले में चार आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजे

इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। जिससे थाना प्रभारी बजीरगंज प्रकाश सिंह व उनका सुरक्षा गार्ड सिपाही भी घायल हो गया था। इस समय सीओ ओजस्वी चावला ने मौके से भाग कर स्वयं को बचाया। रविवार को पुलिस ने सुखवीर के अपहरण व हत्या के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके बाद पुलिस ने पुलिस ने हमला करने व बलवा करने के मामले में पुलिस ने 17 लोगों को नामजद करते हुए 100 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

READ MORE ==सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसौली : दो नर्सों पर रिश्वत ना देने पर डिलीवरी के समय बच्चे की गर्दन मरोड कर जान लेने का आरोप

(Visited 407 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here