1968 में किया साईकिल का गबन, अब 92 साल की उम्र में गिरफ्तार

0
217

कहावत है कि कानून के हाथ बहुत लम्बे होते हैं इसका ताला उदाहरण राजस्थान से सामने आया है कि जहां एक व्यक्ति पर 54 साल पहले साईकिल चोरी का आरोप लगा था। इसके बाद से यह व्यक्ति पुलिस के षिकंजे से बच गया था। तभी से वह भागता फिर रहा था। लेकिन पुलिस की तलाष जारी थी। अब जब पुलिस को जानकारी मिली तब इस आरोपी की आयु 92 साल हो चुकी है। लेकिन अब आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
यहंा बता दें कि मामला राजस्थान का है राजस्थान के गंगानहर के रहने वाले मुंषीराम पुत्र नाथूराम कुमरावत ने एक साईकिल किराए पर देने वाले से साईकिल किराए पर ली थी लेकिन उसने साईकिल वापस नहीं की। साईकिल वापस नहीं मिलने के कारण साईकिल मालिक ने मुंषीराम के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। यह घटना वर्श 1968 की है। इसके बाद से आरोपी मुंषीराम गायब हो गया।

READ MORE ==नेता बनना चाहते थे लेकिन बन गए चीफ जस्टिस आफ इंडिया

पुलिस ने काफी छानबीन की लेकिन पुलिस आरोपी मुंषीराम को गिरफ्तार नही ंकर पाई। पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार नही ंकर पाने के कारण पुलिस अधीक्षक ने आरोपी पर इनाम भी घोशित कर दिया। इसके बाद से इनाम की राषि बढकर 3000रू. हो गई। पुलिस का कहना है कि आरोपी अपना हुलिया बदलकर रह रहा था। चूंकि मुंषीराम की मृत्यु का भी कोई सुराग नहीं मिला इस कारण से पुलिस मामले को बंद भी नही ंकर सकती थी। लेकिन मुंषीराम पुलिस रिकार्ड में फरार चल रहा था। 3000 का इनामी होने के कारण पुलिस मुंषीराम पर नजर भी रख रही थी। एबीपी न्यूज मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एसपी किषोरी लाल ने बताया कि वांछित फरार व इनामी आरोपियों की गिरफ्तारी को अभियान चलाया जा रहा था जिसके प्रभारी मुकेष मीणा ने कडी मेहनत करते हुए मुंषीराम को गिरफ्तार किया है। यह आरोपी 54 साल से फरार चल रहा था। इस समय उसकी आयु 92 सााल है। इस घटना की पूरे राजस्थान में चर्चा है और लोग कह रहे हैं कि कानून के हाथ बहुत लम्बे होते हैं।

READ MORE ==बिसौली एसडीएम ज्योति शर्मा की गाडी पर ईंट से हमला

(Visited 462 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here