पुलिस हमारी बाप है, अपराध करना पाप है

0
343

कान पकड कर उठक बैठक लगाते हुए यह अपराधी कह रहा था अपराध करना पाप है पुलिस हमारी बाप है। यह वही अपराधी है जिसने शराब के नशे में पुलिस के एक सिपाही हो लाठी लेकर दौडा दौडा कर पीटा था।
यहां गौरतलब है कि शनिवार को इंदौर मध्यप्रदेश के थाना एरोड्रम में एक सिपाही जयप्रकाश जिस समय अपने परिवार वालों को लेने थाना जा रहा था उसी समय उसकी कार व्यंकटेशनगर में एक अन्य शख्स दिलीप प्रजापति की कार से टकरा गई थी। इसके बाद दिनेश प्रजापति शराब के नशे में आ गया और उसने सिपाही को लाठी लेकर बंुरी तरह से पीटा था। जिससे सिपाही का सिर भी फट गया था।

Read More —–थाना बिसौली: मदनजुडी बवाल के मामले में बवालियों पर दर्ज हो सकता है मुकदमा

इसके बाद पुलिस ने दिलीप प्रजापति व दिनेश प्रजापति दोनों को गिरफ्तार कर लिया। सूत्र बताते हैं कि पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों को पुलिस ने अपने हिसाब से जमकर ठीक किया था। इसके बाद यह लंगडा कर चल रहे थे। इसके बाद पुलिस आरोपी दिनेश को लेकर उसी स्थान पर आई जहां पर उसने सिपाही को पीटा था। पुलिस ने आरोपी को वहीं पर उठक बैठक लगवा रही थी। साथ ही यह भी कहलवा रही थी कि अपराध करना पाप है, पुलिस हमारी बाप है। इस मसले को लोग अलग अलग तरह से देख रहे हैं। कुछ तो इस घटना के बारे में कह रहे हैं कि उचित है लेकिन अधिकांश लोगों का कहना है कि पुलिस को किसी को भी दण्ड देने का कोई अधिकार नहीं है पुलिस अपराधी को किए गए अपराध के लिए न्यायालय चालान कर सकती है लेकिन इस तरह से जलीन नही ंकर सकती है। यह मानवाधिकारों का सरासर उल्लंधन स्वंय दण्ड देने की अनाधिकार चेष्टा है। खैर इस घटना की खूब चर्चा हो रही है।

Read More ——-बिसौली में 11 भू माफिया चिन्हित, होगी कारवाई

(Visited 390 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here