नाराज शिवपाल ने नहीं ली शपथ, सपा सहयोगी दलों की बैठक से भी नदारद

0
506

सपा विधायक व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने विधानसभा पहुंचकर विधायक पद की शपथ नहीं ली है। जिसका कारण उनकी नाराजगी बतया जा रहा है। इसी के चलते मंगलवार शाम को समाजवादी पार्टी के सहयोगी दलों की बैठक में भी नहीं पहुचे।
यहं बता दें कि समाजवादी पार्टी विधायक दल की बैठक में प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव को ना बुलाए जाने से वह नाराज चल रहे है। इस मामले में सपा का कहना है कि वह हमारे सहयोगी दल है। जब सहयोगी दलों की बैठक होगी तभी उनको बुलाया जाएगा। इधर शिवपाल यादव का कहना है कि मैंने समाजवादी पार्टी के ंिसबल पर चुनाव लडा है इसलिए मैं सपा का विधायक हूं जब विधायक दल की बैठक थी तब सपा के अन्य विधायकों को बुलाया गया वैसे ही मुझे भी बुलाया जाना चाहिए था। लेकिन समाजवादी पार्टी ने जानबूझकर मुझे नहीं बुलाया मैं दो दिनों तक लखनऊ में बुलावे का इंतजार करता रहा। इसके बाद शिवपाल यादव नाराज होकर लखनऊ से चले आए थे और इसके बाद वह मुलायम सिंह यादव से मिलने दिल्ली गए थे।samajwadi party partner
यहां महत्वपूर्ण बात यह है कि आज मंगलवार को सपा ने अपने सभी सहयोगी दलों की बैठक बुलाई है। जिसमें उन्होंने प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव, सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर, अपना दल कमेरावादी की पल्लवी पटेल व रालोद से राजपाल बालियान को बुलाया था। राजपाल बालियान रालोद विधायक दल के नेता हैं। यह मीटिंग सपा कार्यालय पर पांच बजे शुरू हुई। इस बैठक में सहयोगी दलों के 14 विधायक पहुंचे हैं जिनके साथ सपा अध्यक्ष की मीटिंग हुई। इस मीटिंग में भी शिवपाल यादव नहीं पहुंचे। उनके इस बैठक में ना पहुंचने के लोग अलग मायने निकाल रहे हैं। इधर शिवपाल यादव ने दो दिन पहले कहा था कि अपनी रणनीति दो दिन बाद बताऊंगा लेकिन अभी तक उन्होंने किसी भी रणनीति का खुलासा नहीं किया है। यहंा बता दें कि शिवपाल यादव अखिलेश यादव से लम्बे समय से नाराज चल रहे थे। इसी नारजगी में उन्होंने वर्ष 2018 में सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन कर लिया था। लेकिन उनको लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं मिली थी। इसके बाद विधानसभा चुनाव 2022 से पहले शिवपाल यादव ने सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव का साथ देने का निर्णय लिया था।

(Visited 217 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here