सपा गठबंधन की हार का कारण स्वामी प्रसाद मौर्य: केशव देव मौर्य

0
742

समाजवादी पार्टी गठबंधन में लगातार फूट की खबरें आना शुरू हो गई है। इसी मामले में नई खबर महान दल अध्यक्ष केशव देव मौर्य की है जिन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य को सपा गठबंधन की हार का कारण बताया है। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य का चुनाव से ठीक पहले योगी सरकार छोडकर सपा में शामिल होना किसी साजिश का हिस्सा भी हो सकता है। स्वामी प्रसाद मौर्य स्वयं ही ओवर कांफिडेंस में थे और उन्होंने पार्टी में शामिल होकर सभी को ओवर कांफिडेंस में कर लिया। जिससे यह सब कुछ हुआ है।
महान दल अध्यक्ष केशव देव मौर्य ने स्वामी प्रसाद मौर्य को साजिश का हिस्सा बताया व कहा कि स्वामी का सपा में आना भाजपा की रणनीतिक चाल भी हो सकती है। सपा के अधिकांश प्रत्याशी स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा मे शामिल होते ही ओवर कांफिडेंस में आ गए जिस कारण से उनहोंने मेहनत घटा दी, और इस कारण अधिकांश प्रत्याशी हार गए। स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में शामिल होने से पहले महान दल को अच्छी खासी अटेंशन मिल रही थी लेकिन इसके स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में शामिल होते ही महान दल को दरकिनार कर दिया गया। जिस कारण से सपा का यह हाल हुआ है। स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटी भाजपा की आज भी सांसद हैं।
केशव देव मौर्य ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने उनके दल महानदल को उचित सम्मान नहीं दिया। इतने बडे दल को समाजवादी पार्टी ने मात्र दो सीटें ही दी। इसके साथ ही महान दल के कैडर वोट का भी उचित इस्तेमाल नहीं किया गया। यहंा बता दंे कि चुनाव हारने के बाद सपा नेता शफीकुर्ररहमान बर्क ने जाटों पर हार का ठीकरा फोडते हुए कहा था कि जाटों ने सपा गठबंधन को वोट नहीं दिया इस कारण से सपा गठबंधन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में चुनाव हार गया। उन्होंने यह भी कहा था कि मुसलमानों ने तो रालोद के प्रत्याशियों को वोट दिया लेकिन जाटों ने मुस्लिम प्रत्याशियों के साथ साथ गठबंधन के प्रत्याशियों को वोट नहीं दिया। ऐसा लग रहा है कि हार के बाद गठबंधन शीघ्र ही टूट जाएगा।

(Visited 289 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here