नूरनगर कौडिया में तालाब व ग्राम समाज की भूमि ग्रामीणों ने कब्जा कर बन रहे पक्के मकान

0
490

पंचूगोपाल वाष्र्णेय
ओरछी
एक तरफ जहाँ सूबे की योगी सरकार सरकारी सम्पतियों पर अवैध रूप से कब्जा करने वालों की नकेल कस रही है वहीं थाना फैजगंज बैहटा क्षेत्र के गाँव नूरनगर कौडिया में सरकारी तालाब और ग्राम सभा की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर निर्माण कार्य किया जा रहा है आरोप है कि तत्कालीन हल्का लेखपाल और ग्राम प्रधान ने मिलकर इस तालाब को बेच दिया था भूमि खरीदने बालों का कहना है कि न तो कोई बैनामा किया गया न ही कोई पट्टा है इधर गाँव के कई लोगों ने उच्चधिकारियों को इस अवैध निर्माण की जानकारी दे दी है अब अवैध रूप से निर्माण कर रहे ग्रामीणों में बुलडोजर चलने का खौफ पैदा हो गया है।

यह अवश्य पढें  दातागंज ईओ ने भाजपा विधायक के भाई पर लगाए गंभीर आरोप

जनपद बदायूं की तहसील बिसौली Bisauli के विकासखण्ड आसफपुर Asafpur के ग्राम नूरनगर कौडिया Noornagar Kaudia में इन दिनों गाँव के उत्तरी छोर पर स्थित एक तालाब को पाटकर निर्माण कार्य जारी है जबकि समीप ही पड़ी ग्राम सभा की भूमि पर कई मकानों के निर्माण के लिए नीवं भरी पड़ी है आरोप है की बीते लगभग एक दशक पूर्व तत्कालीन ग्राम प्रधान तथा हल्का लेखपाल ने सत्ता और पद का दुरूपयोग करते हुए 40-45 हजार रुपयों में अपनी जमीन बताकर लगभग आधा दर्जन ग्रामीणों को बेच दी थी ग्रामीणों ने बताया है की कई बार कहने के बाबजूद भी न तो उन्हें कोई बैनामा कराया गया है न ही उनका कोई पट्टा काटा गया है ऐसे में न तो उनका मकान का निर्माण हो पा रहा और न ही उनके द्वारा दी गयी रकम को तत्कालीन ग्राम प्रधान और तत्कालीन लेखपाल वापस कर रहे हैं वहीं गाँव के कुछ लोगों ने बताया की गाँव के एक पूर्व प्रधान ने कानून को ठेंगा दिखाते हुए दबंगई के बल पर ग्राम समाज की जमीन पर निजी नलकूप का निर्माण तक करा डाला।

यह अवश्य पढें  बुलडोजर का खौफ नाबालिग के बलात्कारी स्वयं पहुंच गए थाने

जबकि वर्तमान समय में दो मकानों का निर्माण इन दिनों चल रहा है जिसे गाँव के लोग अवैध निर्माण बता रहे हैं इस सम्बन्ध में वहां तैनात हल्का लेखपाल मोहित कुमार शर्मा से जब पूछा गया तो उन्होंने यह मामला बीते समय का होने का बताकर साफ पल्ला झाड़ लिया। उन्होंने यह भी कहा की निर्माण वास्तव में अवैध रूप से हो रहे हैं जिन पर कार्यवाही होनी चाहिए। वह मौके पर जाकर स्थिति को देखेंगे अगर निर्माण अवैध रूप से किये जा रहे हैं तो ऐसे लोगों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। वहीं गाँव के वर्तमान प्रधान मुरारीलाल का कहना है की यह मामला सन 2012 के आस पास का है अतः ऐसे में पूरे प्रकरण की जांच होनी चाहिए तथा दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही होनी चाहिए।

यह अवश्य पढें  थाना फैजगंज बेहटा: बुलडोजर ने 150 वीघा जमीन दबंगों से कब्जामुक्त कराई

(Visited 411 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here