योगी की यार्कर : भ्रष्टाचार के आरोप में डीएम औरैया सस्पेंड

0
226

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दूसरी पारी का बालिंग बहुत ही धारदार हो गई है। डीएम सोनभद्र व एसएसपी गाजियाबाद के बाद डीएम औरैया भी बोल्ड हो गए हैं। योगी इस बार भ्रष्टाचार के आरोप में किसी को भी बिल्कुल भी वख्शने के मूड में नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने डीएम औरैया को केवल सस्पेंड ही नहीं किया है बल्कि उनके खिलाफ विजिलेंस जांच भी जारी की गई है।Suspended Dm aurya sunil verma
रायबरेली के रहने वाले डीएम auriya सुनील कुमार वर्मा sunil verma 2013 बैच के आईएएस हैं। वह एटा व रायबरेली में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रह चुके हैं। इसके साथ ही सोनभद्र व बनारस में सीडीओ रह चुके हैं। इससे पहले वह खाद्य एवं रसद विभाग में विशेष सचिव के रूप में तैनात रह चुके हैं। सूत्र बताते हैं कि डीएम पर आय से अधिक सम्पत्ति है इसलिए उसकी भी जांच की जाएगी। अभी तक डीएम औरैया के स्थान पर किसी की भी तैनाती नहीं की गई है। जबकि देर शाम तक किसी की तैनाती की संभावना है।
धार्मिक नारे लगा अब्बासी मुर्तजा ने गोरखनाथ मंदिर में सुरक्षाकर्मी पर किया हमलाडीएम सोनभद्र व एसएसपी गाजियाबाद का पहले ही सस्पेंशन
यहां बता दें कि डीएम सोनभद्र saunbhadra टीके शिवू TK Shivuको अवैध खनन व भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए पिछले सप्ताह में सस्पेंड किया था। उन पर चुनाव में भी लापरवाही का अरोप लगा था। डीएम सोनभद्र पर अवैध खनन का भी बडा आरोप है।
एसएसपी गाजियाबाद पवन कुमार पाण्डे को भी उनके द्वारा कानून व्यवस्था ठीक नहीं कर पाने व अपराध नहीं रोक पाने के कारण उनको भी सस्पेंड किया गया था। उनके जिले में 25 लाख से अधिक की लूट का मामला भी शामिल रहा था। लेकिन आंतरिक सूत्र बताते हैं कि सरकार द्वारा इन अधिकारियों के सस्पेंशन के पीछे कुछ और है। सरकार द्वारा सस्पेंशन का कारण भ्रष्टाचार के साथ साथ भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं की अनदेखी को भी कारण बताया जा रहा है। सरकार की मंशा है कि इस दूसरी पारी में अधिकारियोें की मनमानी नहीं चलेगी। अधिकारियों को ईमानदारी से काम करने के साथ ही सत्ताधारी नेताओं से तालमेल भी बैठाना पडेगा।
बिना घोषणा के श्रीकांत शर्मा को सोशल मीडिया पर अध्यक्ष बनने की बधाई

(Visited 109 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here