दो लाख का इनामी मनीष सिंह पुलिस मुठभेड में मारा गया

0
623

कानून व्यवस्था के नाम पर योगी सरकार की पुलिस फुल मूड में है। सोमवार को वाराणसी एसटीएफ ने दो लाख के इनामी मनीष सिंह उर्फ सोनू को मुठभेड के बाद मार गिराया वह चर्चित पत्रकार एनडी तिवारी व मिर्जापुर की एक कंपनी के जीएम की हत्या के मामलों मे वाछित था।
यहंा बता दें कि लोहता के बनकट रेलवे स्टेशन के नजदीक सोमवार को दोपहर में मनीष ंिसह उर्फ सोनू की यहां होने की जानकारी पुलिस को मिली पुलिस ने सोनू को घेर लिया। इसके बाद पुलिस ने सोनू से सरेंडर करने को कहा लेकिन उसने सरेंडर के बजाए पुलिस पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। इसके बाद दोनों ओर से हुई फायरिंग में मनीष सिंह उर्फ सोनू को गोली लग गईं जिससे वह घायल हो गया घायलावस्था में उसे अस्पताल ले जाया गया जहां पुलिस ने उसे मृत घोषित कर दिया। मनीष पर हत्या, लूट व अपहरण के लगभग 32 मुकदमे दर्ज थे। लेकिन वह पुलिस से भागता फिर रहा था।
मनीष लगभग बीते 10 सालों से पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था। फरार होने के बावजूद भी लगातार वारदातें करते रहने के कारण सोनू पर ईनाम की राशि बढते हुए 2 लाख हो गई थी। मनीष ने 28 अगस्त 2020 को चैकाघाट के हिस्ट्रीशीटर प्रिंस समेत दो लोगों की हत्या कर दी थी। इस मामले में भी पुलिस को उसकी तलाश थी। मनीष लम्बे समय से अपने ठिकाने बदल बदल कर रह रहा थां यह अक्सर बिहार व नेपाल में स्थान बदल बदल कर रह रहा था। इस कारण से पुलिस उसे खोज नहीं पा रही थी।
उल्लेखनीय है कि सोनू के गैंग के रोहित सिंह सन्नी व रोहित गुप्ता उर्फ किट्टू व दीपक वर्मा पहले ही एसटीएफ के साथ मुठभेड में मारे जा चुके हैं। कुख्यात अपराधी मनीष सिंह उर्फ सोनू पर उसकी आपराधिक पृष्ठ भूमि व फरारी के कारण यूपी के पुलिस महानिदेशक ने मनीष पर दो लाख रूपए का ईनाम घोषित किया हुआ है।

(Visited 262 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here