योगी बोले सबसे बडी दुर्गति शिवपाल(SHIVPAL) की हुई

0
317
Yogi AdityaNath

 

Yogi Ka Tanj
Mulayam Singh with Shivpal Yadav

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव(SHIVPAL) पर तंज कसते हुए कहा कि इस चुनाव में सबसे बडी दुर्गति ही उनकी हुई है। उन्हें अब तो बैठने को स्थान भी नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) करहल से चुनाव हार रहे हैं इसलिए पिता को लेकर गए थे। यह तंज मुख्यमंत्री ने उन्नाव जिले के भगवंतनगर में जनसभा को संबोधित करते हुए किया।
जनसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आपको आश्चर्य होगा कि करहल में भाजपा जीत के मुहाने पर खड़ी है। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने नामांकन किया था तब उन्होंने कहा था मैं दोबारा अब प्रमाण पत्र लेने ही आऊंगा और उसके बीच नहीं आउंगा। जैसे ही भाजपा से प्रो. एसपी सिंह बघेल प्रत्याशी हुए और भाजपा की लोकप्रियता वहां बढी अखिलेश के पसीने छूट गए वह पांचवें दिन ही वहां पहुंच गए। फिर उनको लगा जनता के सामने झूठ की दाल नहीं गल पा रही है तब वह अपने पिता नेताजी मुलायम सिंह जी को लेकर पहुंच गए। मुलायम सिंह जी मंच पर गए और कहा ठीक है भाइयो बहनों आप जो काम करहल में कर रहे हैं वह अच्छा है। समाजवादी पार्टी के नेताओं बताना पडा कि प्रत्याशी कौन है आप उनको वोट को कह दीजिए। उन्हें प्रत्याशी अखिलेश यादव का नाम भी नहीं पता था। पिता और पुत्र में ऐसा संबंध है।
मुख्यमंत्री ने अखिलेश यादव द्वारा पिता मुलायम सिंह यादव के मंच पर पैर छूने पर भी तंज कसा। और कहा कि अच्छा आप ही बताओ पुत्र अपने पिता का पैर कहां छुएगा या मंच पर छुएगा। क्या यह दिखाने की बात होती है, घर पर बोल चाल नहीं होती और मंच पर दिखाने के लिए बाप का पैर छू रहे हैं। इसमें तो सबसे बड़ी दुर्गति तो उस बेचारे शिवपाल की हो गई है, जो प्रदेश के नेता थे उस बेचारे को कुर्सी नहीं मिली तो सोफे के हत्थे पर बैठना पड गया। ये समाजवादी कुनबे के हाल हैं, जिनको अपनों पर विश्वास न हो तो उन पर प्रदेश की जनता कैसे विश्वास कर सकती है।

यहां बता दें कि गुरुवार को मैनपुरी जिले की करहल विधानसभा में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव बेटे सपा प्रमुख अखिलेश यादव के लिए जनसभा को संबोधित करने गए थे। सैफई से रथ पर मुलायम सिंह यादव के साथ अखिलेश यादव और प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव भी सवार थे। रथ के अंदर सोफे पर बैठे मुलायम सिंह यादव और सोफे के हत्थे पर बैठे शिवपाल यादव की फोटो इंटरनेट मीडिया के वाट्सएप और फेसबुक पर वायरल हो रही है। जनसभा में नेताजी मुलायम सिंह यादव के द्वारा अखिलेश यादव का नाम भूल जाने और पास खड़े सपा नेता द्वारा अखिलेश का नाम लेकर वोट मांगने के लिए याद दिलाने की बात हाईलाइट हो गई। जिसकी भरपूर चर्चा हो रही है।

 

(Visited 116 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here